फतवा गैंग को अभिनेता नवाजुद्दीन के बेटे का नटखट नंदलाल के रूप में देखना बुरा लग गया

अक्सर आजकल आपने सुना होगा मुस्लिम इस देश में असुरक्षित महसूस कर रहा है, मगर किससे असुरक्षित महसूस कर रहा है….!

बॉलीवुड के मंझे हुए अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी अपने दो साल के बेटे यानी को स्कूल के जन्माष्टमी समारोह में भगवान कृष्ण की भूमिका मिलने पर बहुत खुश हैं और इसके लिए उन्होंने स्कूल को धन्यवाद दिया हैं. 43 वर्षीय अभिनेता ने ट्विटर पर अपने बच्चे की तस्वीर पोस्ट की जिसमें वह नटखट कान्हा जी की वेशभूषा में अपने हाथों में बांसुरी लिये हुए है.

बॉलीवुड के मंझे हुए अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी अपने दो साल के बेटे यानी को स्कूल के जन्माष्टमी समारोह में भगवान कृष्ण की भूमिका मिलने पर बहुत खुश हैं और इसके लिए उन्होंने स्कूल को धन्यवाद दिया हैं. 43 वर्षीय अभिनेता ने ट्विटर पर अपने बच्चे की तस्वीर पोस्ट की जिसमें वह नटखट कान्हा जी की वेशभूषा में अपने हाथों में बांसुरी लिये हुए है. मुम्बईः देशभर में भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव की तैयारियां जोरों पर हर, मंदिरों में सजावट हो रही है बाजारों में खूब रौनक है. बच्चों में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी लेकर खासा उत्साह है. हर कोई बाजार से कान्हा और राधारानी की ड्रेस खरीद रहा है. भव्य झांकियों की तैयारी की जा रही. ऐसे में बॉलीवुड भला इन सबसे कैसे अछूता रह सकता है. बॉलीवुड के मंझे हुए अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी अपने दो साल के बेटे यानी को स्कूल के जन्माष्टमी समारोह में भगवान कृष्ण की भूमिका मिलने पर बहुत खुश हैं और इसके लिए उन्होंने स्कूल को धन्यवाद दिया हैं. 43 वर्षीय अभिनेता ने ट्विटर पर अपने बच्चे की तस्वीर पोस्ट की जिसमें वह नटखट कान्हा जी की वेशभूषा में अपने हाथों में बांसुरी लिये हुए है.

नवाज ने अपने बच्चे की तस्वीर के साथ लिखा ‘‘ मेरे बेटे को ‘ नटखट नंदलाला’ का चरित्र निभाने का मौका देने के लिए मैं स्कूल का शुक्रगुजार हूं.’’ हालांकि कुछ लोगों को नवाज के बेटे का ये रूप पसंद नहीं आया और उन्होंने इसे इस्लाम के खिलाफ बताया. वहीं कुछ ट्विटर यूजर्स ने नवाज को फतवा जारी होने के लिए आगाह किया.

इस ट्वीट को साढ़े 6 हजार से ज्यादा लाइक्स आ चुके हैं वहीं लगभग दो हजार लोग इसे रिट्वीट भी कर चुके हैं. फिलहाल जो भी हो नवाजुद्दीन के इस ट्वीट को काफी पसंद किया जा रहा है.आपको बता दें कि नवाज के बेटे के लिए कान्हा का किरदार निभाना एक सुनहरा समय था लेकिन ‘‘मुन्ना माइकल’’ अभिनेता को पिछले वर्ष शिवसेना के विरोध के बाद एक रामलीला कार्यक्रम से बाहर होना पड़ा था. शिवसेना ने विरोध जताते हुए कहा था कि कोई भी मुस्लिम 50 वर्षों से इस कार्यक्रम का हिस्सा नहीं रहा है.

Leave a Reply